अयोध्या : राम मंदिर ट्रस्ट में कोई नेता नहीं होगा:-

अयोध्या : राम मंदिर ट्रस्ट में कोई नेता नहीं होगा:- अयोध्या में राम मंदिर के लिए प्रस्तावित ट्रस्ट में कोई भी राजनेता नहीं रखने का फैसला किया गया है यह बात केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्पष्ट किया, उन्होंने कहा नेता ना होने के कारण यह सवाल भी बेमानी हो जाता है कि ट्रस्ट में भाजपा का सदस्य शामिल होगा ,गृह मंत्री ने एक कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा 3 महीने में ट्रस्ट बनाने के आदेश के हवाले से यह बात कही, उन्होंने कहा कि वक्त से पहले ट्रस्ट बन जाएगा साथ ही केंद्र सरकार ने अयोध्या से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के फैसले के क्रियान्वयन की निगरानी के लिए एक विशेष समिति का गठन कर दिया है जिसका नेतृत्व अतिरिक्त सचिव ज्ञानेश कुमार करेंगे और वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले से जुड़े सभी मामलों को देखेंगे, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अमल करने के लिए तीन अधिकारियों की टीम गठित किया है ,केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अपने एक आदेश में कहा कि कोर्ट के फैसले पर अमल का काम तीन अधिकारी देखेंगे, अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण को लेकर सक्रियता तेज हो गई है, इसमें सरकार से लेकर संत, आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद की सक्रियता बढ़ गई है, 2002 में श्री राम जन्मभूमि न्यास के तत्कालीन अध्यक्ष और अयोध्या आंदोलन के प्रमुख किरदार दिगंबर अखाड़ा के प्रमुख रामचंद्र परमहंस और विश्व हिंदू परिषद के तत्कालीन अध्यक्ष अशोक सिंघल द्वारा ट्रेजरी में रखी गई दो पूजित रामशिलाओं के 18 साल बाद ट्रेजरी से बाहर लाने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *