जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा कश्मीर जायजा लेने ,सीजेआई

0
141
जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा कश्मीर जायजा लेने ,सीजेआई

जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा कश्मीर जायजा लेने ,सीजेआई

जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा कश्मीर जायजा लेने ,सीजेआई:- जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो मैं खुद जायजा लेने वहां जा सकता हूं ,सोमवार को कश्मीर घाटी में लगाई गई पाबंदियों के पीछे सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इसकी ठोस वजह है ,कश्मीर की स्थिति पहले बेहद भयावह रही है, लिहाजा सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्र हित और आंतरिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए केंद्र व जम्मू सरकार को कश्मीर घाटी में हालात सामान्य करने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा,
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई जस्टिस एस बोबडे और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ ने यह संक्षिप्त आदेश सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर पर दिए गए आंकड़ों पर गौर करने के बाद दिया, अटॉर्नी जनरल के वेणुगोपाल ने सरकार की ओर से कहा कि राज्य तीन तरह के हमलों से जूझ रहा है ,पहला अलगाववादियों द्वारा पैसे देकर पत्थर फेकवाने का काम और दूसरा पड़ोसी देश द्वारा आतंकवादियों को यहां भेजना ,तीसरा कुछ कारोबारियों द्वारा स्थानीय आतंकियों को समर्थन देना इसमें शामिल है ,जम्मू कश्मीर के 2 सामाजिक कार्यकर्ताओं की ओर से पेश वकील ने दावा किया था कि कश्मीर की स्थिति ऐसी है कि लोग हाईकोर्ट का रुख तक नहीं कर पा रहे हैं ,जिस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस को इस संबंध में रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा है ,
जस्टिस गोगोई ने कहा यह आरोप गंभीर है ऐसे में अगर जरूरत पड़ी तो वह खुद हाईकोर्ट का जायजा लेने जाएंगे विधि के 1 छात्र कि कश्मीर में बिना अनोहनी के साथ जीवन कायम करने की याचिका पर जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा सिर्फ कश्मीर ही क्यों क्या आप मानते हैं कि शांतिपूर्वक जिंदगी सिर्फ कश्मीरियों के लिए ही होनी चाहिए ?यह हर एक के लिए हकीकत है यहां तक की सुप्रीम कोर्ट में बैठे लोगों को भी ऐसी ही जिंदगी चाहिए, अटार्नी जनरल ने कुछ लोगों द्वारा इस आरोप को भी बेबुनियाद बताया कि लोगों को अस्पताल जाने के लिए परिवहन की व्यवस्था नहीं लोगों को इलाज तक नहीं मिल पा रहा है, वेणुगोपाल ने कहा कि 5 अगस्त से 10 लाख मरीज ओपीडी में अपना इलाज करवा चुके हैं ,
अटार्नी जनरल ने इंटरनेट सर्विस को बंद किए जाने पर कहा कि 2016 में एक आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद भी 3 महीने तक घाटी में इंटरनेट सेवा बंद थी और इस दौरान हुई हिंसा में लगभग 46 लोगों की मौत हो गई थी,
नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की इजाजत सुप्रीम कोर्ट ने दे दी ,उनकी याचिका पर सुनवाई के दौरान आजाद ने कहा कि मैं वहां का पूर्व मुख्यमंत्री हूं ,तो इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि मैं आपको जानता हूं, आजाद ने कहा कि मैं बारामुला, श्रीनगर, अनंतनाग और जम्मू जाकर अपने लोगों से मिलना चाहता हूं और कोर्ट को भरोसा देना चाहता हूं कि मैं वहां कोई रैली नहीं करूंगा, उनके इस कथन पर सीजेआई ने केंद्र सरकार और जम्मू कश्मीर सरकार को नोटिस जारी किया और गुलाम नबी आजाद को जम्मू कश्मीर जाने की इजाजत दे दी,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here