महाराष्ट्र: शिवसेना ने विश्वासघात किया हमने नहीं अमित शाह:-

0
42
महाराष्ट्र: शिवसेना ने विश्वासघात किया हमने नहीं अमित शाह:-

महाराष्ट्र: शिवसेना ने विश्वासघात किया हमने नहीं अमित शाह:- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने इस पूरे घटनाक्रम का ठीकरा शिवसेना पर फोड़ा है ,उन्होंने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा शिवसेना से ढाई- ढाई साल के मुख्यमंत्री पद पर चुनाव से पहले कभी बात नहीं हुई थी,
शिवसेना देवेंद्र फडणवीस के नाम पर सहमत थी और यह पहले ही तय था कि यदि हमारा गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे ,उस वक्त तो किसी ने नहीं आपत्ति जताई थी ,अब शिवसेना के नेता नई नई मांगों के साथ आ रहे हैं जो किसी हाल में स्वीकार नहीं किया जा सकता ,अगर आज भी किसी दल के पास बहुमत है तो जाकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकता है,
अमित शाह ने कहा भाजपा के संस्कार ऐसे नहीं हैं जो बंद कमरे में हुई बातचीत को सार्वजनिक करें, शिवसेना ने हमें धोखा दिया है हम तो उनके साथ मिलकर सरकार बनाने को तैयार थे और महाराष्ट्र की जनता ने भी हमें ऐसा ही बहुमत दिया था ,लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद शिवसेना की मांगे बढ़ती गई जो हमें मंजूर नहीं थी, उधर महाराष्ट्र में सरकार बनाने के फैसले को लेकर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ एक होटल में करीब 1 घंटे तक मुलाकात की, इस बैठक के बाद उद्धव ठाकरे ने कहा कि बातचीत सही दिशा में आगे बढ़ रही है और सही समय आने पर फैसला लिया जाएगा, महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने उद्धव ठाकरे की इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताते हुए बैठक को सकारात्मक बताया , इस बैठक में कांग्रेस की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण, मानिकराव ठाकरे इस बैठक में उपस्थित थे ,सूत्रों की मानें तो सरकार बनाने को लेकर शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी में करीब-करीब सहमति बन चुकी है ,विभिन्न मुद्दों पर एनसीपी कांग्रेस और शिवसेना के बीच सहमति बन रही है ,सरकार के गठन को लेकर तीनों दल सहमत हैं और जल्द ही राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा मिलकर पेश कर सकते हैं ,
इस फार्मूले में सीएम का पद ढाई- ढाई साल के लिए शिवसेना और एनसीपी को मिलेगा इसमें पहले ढाई साल शिवसेना के पास रहेंगे और कांग्रेस को पूरे कार्यकाल के लिए डिप्टी सीएम का पद मिलेगा ,मंत्रिमंडल में लगभग 42 मंत्री बनाए जाने की संभावना है जो तीनों दलों में बराबर संख्या होगी, शिवसेना नेता संजय राउत बीमारी की वजह से लीलावती अस्पताल में भर्ती थे और बुधवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई अस्पताल से बाहर आने पर वह अपने पुराने चिर परिचित अंदाज में दिखे और उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here