विश्व कप"- विजेता की घोषणा और अंपायरिंग कटघरे में:- » newswalablog

विश्व कप”- विजेता की घोषणा और अंपायरिंग कटघरे में:-

विश्व कप”- विजेता की घोषणा और अंपायरिंग कटघरे में:-

जिस तरह से क्रिकेट के विश्वकप का समापन हुआ इससे विवादों में घिर गया है कई पूर्व क्रिकेटरों ने विजेता के फैसले पर चौकों और छक्कों के आधार पर करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया है हालांकि क्रिकेट के इतिहास के पन्नों में इंग्लैंड का नाम छठे विजेता के रूप में दर्ज हो चुका है लेकिन इंग्लैंड को विजेता बनाने के फैसले ने आईसीसी और क्रिकेट के नियमों को चुनौती देने वाली इन नियमों के साथी अंपायरिंग भी कटघरे में खड़ी हो गई है देश और दुनिया के तमाम क्रिकेटर इंग्लैंड के विजेता चुने जाने के तरीके पर न्यूजीलैंड के साथ खड़े हो गए हैं हालांकि आईसीसी का यह नियम पहले से ही तय था लेकिन ज्यादातर क्रिकेटरों का यह मानना है कि फाइनल का फैसला अधिक बाउंड्री लगाने के नियम पर नहीं दिया जाना चाहिए था ऑस्ट्रेलियाई अंपायर साइमन टाफेल ने तो स्टोक के बल्ले से निकले ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को 6 रन देने पर ही सवालिया निशान लगा दिए हैं उन्होंने नियमों का हवाला देकर दावा किया है कि इंग्लैंड को यहां छ नहीं बल्कि 5 रन दिए जाने चाहिए थे अगर ऐसा होता तो इंग्लैंड को अंतिम 2 गेंद पर 3 रन नहीं बल्कि 4 रन की जरूरत होती और यहां से यह परिणाम बदल सकता था न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा हसे या रोंये यह आपका फैसला है, कोई गुस्सा नहीं है निराशा है जो हम सब महसूस कर रहे हैं कुछ चीजें हमारे बस में नहीं होती हैं यह स्वीकार करना मुश्किल है क्योंकि दोनों टीमों ने इस पल के लिए काफी मेहनत की थी 2 प्रयासों के बाद भी विजेता का निर्धारण नहीं हो सका इसके बाद जिस तरह से हुआ कोई भी टीम ऐसा परिणाम नहीं चाहेगी नियम तो है और यह नियम टूर्नामेंट की शुरुआत से ही है न्यूजीलैंड के मीडिया ने भी मेजबान इंग्लैंड को विजेता घोषित करने के आईसीसी के फैसले पर अपनी टीम के साथ छल बताया है उन्होंने लिखा कि 22 नायकों के साथ क्रिकेट विश्व कप का फाइनल और कोई विजेता नहीं न्यूजीलैंड के एक अखबार ने सोमवार को छापा यहां आईसीसी के अटपटे नियमों के कारण उनकी टीम चली गई है एक और अन्य पत्रिका ने लिखा क्रिकेट विश्व कप का फाइनल चौको छक्कों की गिनती से न्यूजीलैंड को जीत से महरूम किया न्यूजीलैंड के क्रिकेट प्रशंसक भी इस तरह से टीम की हार से काफी निराश और गुस्से मेंहै न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन ने कहा विश्व कप का फाइनल का फैसला सुपर ओवर के आधार पर नहीं किया जाना चाहिए था उन्होंने अपने कालम में लिखा केन विलियमसन और, इयान मोरगन दोनों कप दिया जाना चाहिए था ,इस तरह से फाइनल कोई भी टीम नहीं हारना चाहेगी, पूर्व ऑलराउंडर स्टॉक स्टाइरिश ने अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रखते हुए लिखा कि बहुत अच्छा काम किया आईसीसी सिर्फ एक मजाक है ,वहीं इंग्लैंड के कप्तान इयान मोरगन ने कहा कि आईसीसी के नियमों पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं है और यह नियम निश्चित तौर पर काफी पहले तय किए गए थे और हम इस पर कुछ नहीं कर सकते, आईसीसी ने इस पर कुछ भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया आईसीसी के प्रवक्ता ने कहा अंपायर नियमों को ध्यान में रखकर मैदान पर फैसला करते हैं नीतिगत मामलों में हम किसी तरह की टिप्पणी नहीं करना चाहते इस तरह के फैसले पर भारत के भी कई पूर्व क्रिकेटरों ने ट्वीट कर इस पर अपनी नाराजगी जताई गौतम गंभीर ने लिखा बाउंड्री के आधार पर फाइनल का फैसला देना आईसीसी का बकवास नियम है यह टाई होना चाहिए था फिर भी और रोमांचकारी फाइनल खेलने के लिए दोनों टीमों को बधाई देना चाहते हैं वहीं युवराज सिंह ने लिखा मैं इस नियम से सहमत नहीं हूं लेकिन नियम तो नियम है इंग्लैंड को बधाई लेकिन उनका दिल न्यूजीलैंड की ओर झुकता है जिस तरह से उन्होंने अंतिम क्षणों तक संघर्ष किया ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर शेन वार्न ने लिखा मैं मानता हूं कि एक और सुपर ओवर होना चाहिए था या फिर जब तक सुपर ओवर जारी रहते जब तक कि परिणाम नहीं आ जाता भारतीय पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने लिखा बाउंड्री के आधार पर फैसला देने को पचाना कठिन है, सडन डेथ नियम लागू कर सुपर ओवर को तब तक जारी रखना था जब तक परिणाम नहीं निकलता दोनों टीमों को संयुक्त विजेता बनाना ठीक रहता न्यूजीलैंड के लिए यह बेहद कठिन रहा रोहित शर्मा ने ट्वीट किया क्रिकेट में कुछ नियम ऐसे हैं जिन पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *