आर्थिक मंदी: ऑटो सेक्टर में बिक्री 22 साल मैं सबसे निचले पायदान पर:- » newswalablog

आर्थिक मंदी: ऑटो सेक्टर में बिक्री 22 साल मैं सबसे निचले पायदान पर:-

आर्थिक मंदी: ऑटो सेक्टर में बिक्री 22 साल मैं सबसे निचले पायदान पर:- भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी का असर ऑटो सेक्टर पर सबसे ज्यादा पड़ा है, वाहनों की बिक्री में गिरावट के लिहाज से अगस्त माह 22 साल का सबसे खराब रहा, यह लगातार दसवां महीना है जब कारों की बिक्री सबसे कम रहा, लगभग सभी वाहनों की बिक्री में इस दौरान गिरावट दर्ज की गई है ,केवल अगस्त महीने में ही वाहनों की बिक्री 23.55% की कमी आई है सिर्फ 1821490 वाहन बिके ,जबकि अगस्त 2018 में 2382436 वाहनों की बिक्री हुई थी ,यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री में भी रिकॉर्ड 41% की कमी दर्ज की गई है, कुल बिक्री अगस्त महीने में 31.57% पर आ गई है,


ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स सोसाइटी के मुताबिक अगस्त 2019 में कारों की बिक्री में 41.9% की कमी आई है ,भारतीय अर्थव्यवस्था में अप्रत्याशित सुस्ती के कारण यह गिरावट लगातार जारी है वाहन उद्योग की नजर अब 2020 में होने वाली जीएसटी परिषद की बैठक पर टिकी हुई है ,इस बैठक में आने वाले त्योहारों को देखते हुए त्योहारी सीजन से ठीक पहले कुछ श्रेणी के वाहनों पर जीएसटी में 10% तक कमी का फैसला होने की संभावना है, फिलहाल अभी वाहनों पर अधिकतम जीएसटी 28% तक है, फिलहाल ऑटो कंपनियां कार ,दो पहिया वाहन और ट्रकों पर अपनी तरफ से 20 से 25% तक की छूट दे रही हैं ,कारों पर डिस्काउंट तो कहीं-कहीं 29% तक है,


वित्त मंत्री ने पिछले दिनों ऑटोमोबाइल क्षेत्र के लिए पैकेज का ऐलान किया था इससे इस क्षेत्र को बढ़ावा देने और bs4 वाहनों की बिक्री बरकरार रखने की मंजूरी देना भी शामिल है, इस महत्वपूर्ण पैकेज से जल्द ही ऑटो सेक्टर में सुधार होने की संभावना है ,देश की प्रमुख कार निर्माता कंपनी मारुति सुज़ुकी अपने कारों पर 30000 से लेकर लगभग ₹120000 तक की छूट दे रही है, वहीं अन्य कंपनियों में टोयोटा ,किर्लोस्कर, हुंडई अन्य कंपनियां भी अपने प्रमुख कारों पर 10 से 15% तक की छूट दे रही हैं, हालांकि वाहन क्षेत्र में सुस्ती के बीच विदेशी निर्यात मोर्चे पर इस सेक्टर को बड़ी राहत मिली हुई है अगस्त में यात्री वाहनों के निर्यात मे 14.73% तक बढ़ोतरी देखी गई, बीते वर्ष की तुलना में अभी देखा जाए तो यात्री वाहनों का निर्यात इस साल अगस्त माह में 14.73% बढ़ा है, वहीं अन्य श्रेणी के वाहनों के निर्यात में काफी गिरावट दर्ज की गई है ,


बिक्री में लगातार गिरावट के चलते वाहन व कल पूजा निर्माता कंपनियां लगातार ऑटोमोबाइल पर जीएसटी 28% से घटाकर 18% किए जाने की मांग कर रहे हैं ,उनका कहना है कि इससे सेक्टर को मंदी से बाहर निकलने में काफी मदद मिलेगी, जीएसटी परिषद की अगली बैठक 20 सितंबर को गोवा में होनी है जिस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं कि सरकार जीएसटी को लेकर ऑटो सेक्टर के लिए क्या फैसला करती है, |

One thought on “आर्थिक मंदी: ऑटो सेक्टर में बिक्री 22 साल मैं सबसे निचले पायदान पर:-

  • September 13, 2019 at 2:07 pm
    Permalink

    Hello there I am so happy I found your web site, I really found
    you by accident, while I was researching on Bing
    for something else, Anyhow I am here now and would just like to say thanks a lot
    for a marvelous post and a all round exciting blog (I also love the theme/design), I
    don’t have time to browse it all at the moment but I have bookmarked it and also included your
    RSS feeds, so when I have time I will be back to read much more,
    Please do keep up the fantastic jo.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *