इस बार ,सिंगल यूज प्लास्टिक को दुनिया से बॉय:- » newswalablog

इस बार ,सिंगल यूज प्लास्टिक को दुनिया से बॉय:-

इस बार ,सिंगल यूज प्लास्टिक को दुनिया से बॉय:-इस बार ,सिंगल यूज प्लास्टिक को दुनिया से बॉय:- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रेटर नोएडा में चल रहे वैश्विक सम्मेलन का 14 में 200 देशों से आए प्रतिनिधियों 70 पर्यावरण मंत्री और दुनिया भर के लगभग 8000 से आए प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि अब वक्त आ गया है जब दुनिया सिंगल यूज़ प्लास्टिक को अलविदा कहे भारत अगले वर्षों में इस्तेमाल इसका बंद कर देगा,
पूरे विश्व में बढ़ते हुए मरुस्थलीकरण को रोकने के लिए कॉन्फ्रेंस आफ पार्टीज (काप) के 14 में वैश्विक सम्मेलन में सोमवार को नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत पर्यावरण, बंजर भूमि व सिंगल यूज प्लास्टिक खत्म करने के लिए संकल्प बद्ध है ,इस सम्मेलन में 200 देशों के प्रतिनिधि 70 पर्यावरण मंत्री और लगभग 8000 से अधिक प्रतिभागी हिस्सा ले रहे हैं ,मोदी ने भारत को आदिकाल से पर्यावरण और धरती को अनन्य मानने की परंपरा का भी उल्लेख किया और कहा खुशी की बात यह है कि भारत दुनिया को एक मंच पर इस मुद्दे पर लाकर चिंतन कर रहा है ,ऋग्वेद के प्रकृति की आराधना मंत्र का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा भारत की कामना है कि पूरी धरती ,अंतरिक्ष ,जल और वायु स्वच्छ और स्वस्थ रहें हमारी संस्कृति सर्वे भवंतु सुखिनः ,सर्वे संतु निरामया ,वाली रही है, सम्मेलन में हिस्सा ले रहे देशों का स्वागत करते हुए पीएम ने कहा कि प्लास्टिक कचरा मरुस्थलीकरण को बढ़ावा दे रहा है यह स्वास्थ्य और धरती की उर्वरता दोनों के लिए एक बड़ी समस्या है, पीएम ने कहा भारत भूमि उपजाऊ बनाने के लिए रिमोट सेसिंग व अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का भी इस्तेमाल कर रहा है, भारत अन्य मित्र देशों की इस संबंध में मदद करने के लिए हमेशा तैयार है,
पीएम मोदी ने पेयजल की हो रही भारी कमी पर भी दुनिया से मिलकर चिंतन करने की वकालत की साथ ही संयुक्त राष्ट्र मरुस्थलीकरण प्रतिरोध सभा के नेतृत्व से वैश्विक जल कार्यवाही एजेंडा बनाने का भी आवाहन किया ,उन्होंने कहा कि पेयजल को पूरे विश्व के लिए आने वाले सबसे बड़े खतरे के रूप में देखा जा सकता है ,आने वाले समय में पूरे विश्व में पीने के पानी की समस्या बढ़ने वाली है और पूरी दुनिया को इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है ,ताकि आने वाली पीढ़ियों को पीने का स्वच्छ पानी मिल सके उसके लिए सभी को मिलकर जरूरी कदम उठाने होंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *